विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन

सोनभद्र।राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राष्ट्रीय महिला आयोग ने भारत के विभिन्न राज्यों के विनिविशेषधिकता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन किये जाने का निर्देश दिया गया है। उपरोक्त के अनुपालन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सोनम के अध्यक्ष अशोक कुमार यादव प्रथम माननीय जनपद न्यायाधीश सोनभद्र के नेतृत्व में शनिवार को अपरान्त 01.00 बजे तहसील घोरावल, जनपद सोनभद्र क ग्राम बर्दिया के पंचायत भवन परिसर में भी एहसानुल्लाह खान, प्रभारी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सोनभद्र माननीय विशेष न्यायाधीश (एस०सी०एस०टी०)/ गैंगेस्टर एक्ट, सोनमंद की अध्यक्षता में विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।उक्त आयोजित हुए विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर में श्रीमती विनीता सिंह,सिविल जज सीडी सोनभद्र, डा गणेश प्रसाद, जनरल फिजीशियन एन०सी०डी०,

सोनभद्र, डा० दीप्ती सिंह, संयुक्त चिकित्सालय, सोनमद, श्री ज्ञानेन्द्र कुमार यादव, तहसीलदार घोरावल, अजनी कुमार राय, थाना अध्यक्ष घोरावल शशांक शेखर काल्यान, विशेष लोक अभियोजक एस०सी०/एसटी कोर्ट, रोशन लाल यादव, रिसोर्स परसन्, कंचन सिन्हा, रिसोर्स परसन, नाहीद परवीन, एडवोकेट एवं ग्राम प्रधान बर्दिया तहसील घोरावल, सोनभद्र आदि लोग उपस्थित हुए। उक्त विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का संचालन सत्यारमण त्रिपाठी, डिप्टी चीफ लीगल एड डिफेन्स काउन्सिल, सोनभद्र द्वारा किया गया। तथा उनके द्वारा भरण पोषण पर उपस्थित महिलाओं को विस्तृत रूप से अवगत कराया गया।जनपद सोनभद्र की तहसील घोरावल के तहसीलदार ने महिलाओं से सम्बन्धित शासन की विभिन्न जनोपयोगी एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में उपस्थित जनसमूह को विस्तृत रूप से जैसे शिक्षा, स्वास्थ एवं आवास आदि योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान की गयी।डा० गणेश प्रसाद द्वारा शिविर में उपस्थित महिलाओं को महिला पोषण एवं डॉ दीप्ती सिंह ने सर्वाइकल कैंसर से होने वाली समस्याओं एवं उसके बचाव व उसके उपचार के संबंध विस्तृत रूप से अवगत कराया गया। विनीता सिंह, सिविल जज, सीनियर डिवीजन सोनभद्र द्वारा घरेलू हिंसा से सम्बन्धित कानून पर उपस्थित महिलाओं को विस्तृत जानकारियों से अवगत कराते हुए कहा कि अगर आप शिक्षित रहेगी तभी यह अपने अधिकारों को प्राप्त कर सकती है। इसलिए आप स्वयं अपने घर की सभी लड़कियों एवं महिलाओं की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें। एहसानुल्लाह खान, प्रभारी सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सोनभद, द्वारा अध्यक्षीय भाषण देते हुये शिविर में उपस्थित महिलाओं को महिलाओं से सम्बन्धित प्राधिकरण एवं शासन द्वारा जारी समाम योजनाओं के सम्बन्ध में विस्तृत रूप से अवगत कराया। साथ ही यह भी बताया कि प्राधिकरण द्वारा भरण पोशण तलाक एवं धारा 496 ए दहेज उत्पीडन आदि मामलों को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सोनभद्र द्वारा संचालित मध्यस्थता केन्द्र में सुलह समझौता के माध्यम से निस्तारित कराया जाता है। जिनका उक्त प्रकार का मामला हो को वह मध्यस्थता केन्द्र के माध्यम से अपना मामला निस्तारित करवा कर इस योजना का लाभ उठा सकते है।अन्त में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सोनभद्र के प्रभारी सचिव एहसानुल्लाह खान, द्वारा शिविर में उपस्थित लोगों के प्रति अपना आभार प्रकट किया।

ये भी पढ़िए