डिलीवरी के 10 दिन बाद कार्यभार संभाला मातृशक्ति के जज्बे को सलाम

(रौशन विश्वकर्मा) सोनभद्र। संकट की घड़ी में अनपरा नगर पंचायत की ईओ ऋचा यादव निभा रही दोहरी जिम्मेदारी। एक तरफ संचारी , डेंगू, मलेरिया रोग के संक्रमण से बचने के लिये केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयास को अमली जामा पहना रही है, वहीं अपने 10 दिन के नवजात का भी पालन पोषण एक मां के रूप में कर रही हैं। नगर पंचायत अनपरा की अधिशासी अधिकारी ऋचा यादव महज दस दिन बाद प्रसूति से लौटते ही नगर पंचायत की कार्यभार संभाल ली है।

क्षेत्र में डेंगू ,मलेरिया एवं अज्ञात वीमारी के संक्रमण से बचाने की कवायद में जुट गई है। संकट की इस घड़ी में जाबाज बन दोहरी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रही है। बताते चलें कि परिक्षेत्र में इस समय मच्छरों का प्रकोप बहुत तेजी से बढ़ गया है जिसके चलते लोग मलेरिया और डेंगू के चपेट में आ रहे हैं।

नगर पंचायत द्वारा परिक्षेत्र में नालियों की साफ सफाई कीटनाशक दवाइयां का छिड़काव आदि के लिए अधिकारी का होना आवश्यक था, जिसके चलते साफ सफाई कार्यक्रम में किसी भी तरह की रुकावट या खलल ना पैदा हो सके। तवियत अस्वस्थ के चलते अध्यक्ष विश्राम प्रसाद भी नगर पंचायत में बहुत ज्यादा समय नहीं दे पा रहे हैं ऐसे महिला ईओ ने डिलीवरी के 10 दिन बाद ही प्रदेश के सबसे बड़े नगर पंचायत का चार्ज लेकर अपनी कर्तव्य निष्ठा का परिचय दिया है। लोगों ने महिला अधिकारी के इस कदम की भूरि भूरि प्रशंसा की है।

चार्ज लेने के बाद ऋचा यादव ने बताया कि वह नगर पंचायत को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए हर संभव प्रयास रत है, जल्द ही अनपरा अपने नए कलेवर के साथ सब लोगों के सामने होगा।

ये भी पढ़िए