ग्राम स्वराज्य समिति चंदौली के द्वारा संचालित बाल श्रम अभियान के अंतर्गत रेस्क्यू कर दो बच्चों को कराया गया मुक्त, क्षेत्र में मची खलबली

मदन मोहन( धानापुर – चंदौली)ग्राम स्वराज्य समिति और कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में बाल संरक्षण अभियान के तहत बाल श्रम मुक्त, बाल विवाह मुक्त, बाल यौन शोषण से मुक्ति और बच्चों के खरीद-फरोख्त से मुक्ति अभियान अंतर्गत जनपद चंदौली के धानापुर ब्लाक मैं कपड़ा व्यवसाई के यहां दो नाबालिग बच्चे पकड़े जाने से पूरे क्षेत्र में दहशत फैल गई।
बच्चे स्कूल छोड़कर पिछले कई महीनों से कपड़े के दुकान पर कम मजदूरी में कठिन परिश्रम करके काम करते थे। इसकी जानकारी मिलने पर ग्राम स्वराज्य समिति के कार्यकर्ता जुनैद खान व सौरभ सिंह ने श्रम प्रवर्तन अधिकारी नज़रें आलम तथा एएचटीयू रतन कुमार के साथ मिल कर एक रेस्क्यू टीम गठित कर बच्चों को रेस्क्यू कर सीडब्ल्यूसी के समक्ष प्रस्तुत किया। सीडब्ल्यूसी के तत्वाधान में बच्चों को अभिभावकों से शपथ पत्र लेकर उचित निर्देश पर सुपुर्द किया गया। तथा दुकान मालिकों पर श्रम प्रवर्तन विभाग द्वारा उचित विधिक कार्यवाही किया गया।
ग्राम स्वराज्य समिति संस्था का प्रयास है कि जनपद चंदौली को बाल श्रम मुक्त, बाल विवाह मुक्त तथा बाल हितैषी जनपद घोषित किया जाए इसमें विभिन्न कार्यकर्ताओं और बच्चों के हितैषी लोगों से निवेदन है कि सहयोग कर बाल हित में काम करें।
खबरों एवं विज्ञापन के लिए संपर्क करें 99 3538 9656

ये भी पढ़िए